February 2021 - Poetry by Ashutosh

कच्ची डोरियों,डोरियों,डोरियों से
मैनु तू बांध ले
पक्की यारियों यारियों यारियों में
होंदे ना फासले
ये नाराजगी कागजी सारी तेरी
मेरे सोरेया सुन ले मेरी
दिल दियां गल्लां
करांगे नाल नाल बह के
अक्ख नाले अक्ख नू मिला के

Read More
goal setting, goal, dart

लच्छ रहे निर्धारित मेरे
साछय बनकर खड़े सामने
परिस्थिति कुछ ऐसी बन बैठी
स्थिति कुछ ऐसी बन बैठी

लछ्य की अब वो स्थिति है
परिस्थिति कुछ ऐसी है

Read More