shayari |motivational | Inspirational | Poetry by Ashutosh
shayari in hindi
shayari in hindi

घर से निकले अगर हम बहक जायेंगे
वो गुलाबी कटोरे छलक जायेंगे

दुश्मनी का सफर इक कदम दो कदम
तुम भी थक जाओगे हम भी थक जायेंगे

नाम पानी पे लिखने से क्या फायदा
लिखते लिखते तेरे हाथ थक जायेंगे

ये परिन्दे भी खेतों के मजदूर हैं
लौट के अपने घर शाम तक जायेंगे

दिन में परियों की कोई कहानी न सुन
जंगलो में मुसाफिर भटक जायेंगे

मेरा उससे वादा था घर रहने का
अपनी छत के नीचे दुःख सुख सहने का

बारिश बारिश कच्ची कब्र का घुलना है
ज्नां लेवा अहसास अकेले रहने का

अबके आंसू आँखों से दिल में उतरे
रुख बदला दरिया ने कैसा बहने का

हिज्रो-विसाल के किस्से सारे झूठे है
हक़ मिलता है किसको अपना कहने का

जगमग जगमग हीरे जैसी आँखों में
एक अजीब गुबार हवेली ढहने का

Dosti Shayari

-Sad Shayari

Attitude Shayari

Romantic Shayari

Shayari in Hindi

Shayari Love

Motivational Shayari

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *