Shayari | Sad shayari | Motivation | - Poetry by Ashutosh

SHAYARI

बुलंद हौसला

हौसला है हमारे पास
हौसला है तुम्हारे पास
हम इसे बुलंद करे
तो आगे बड़ेगी हमारी आस
इतना अगर करें काम
तो समझलेना
सफलता है हमारे पास

सवेरा

आँखों में हमेशा अँधेरा नहीं रहता
बातों में किसी दुःख का सवेरा नहीं रहता
एक बार मन की आँखों से तो देख
मन की आँखों में
किसी के बातों का बसेरा नहीं रहता

सपना जो अपना

खुद की कोई मंजिल नहीं
खुद के कोई सपने नहीं
सदा दुसरो के सपनो के लिए काम करना
जो कभी अपने नहीं

कठिन रास्ता

जिंदगी के रास्ते में भी कांटे होते है
फूल तो कलियों में देखने को मिलते है
पर जिंदगी के रास्ते में फूल और काँटों से दोस्ती
कर लेने वालो के लिए
जिंदगी के रास्ते भी छोटे होते है

सफर

जो सफर इख्तियार करते है
वो दरिया को पार करते है
जरा चलकर तो देखो यारो
रास्ते खुद इंतजार करते है

जिंदगी

मैंने पेड़ से पत्तो को झरते देखा है
किसी की जिंदगी को उजड़ते देखा है
उसी उजड़ी हुई जिंदगी से
खुश रहते व्यक्ति को सवरतें देखा है

बशीर बद्र की लेखनी

आँसुओं की जहाँ पायमली रही
ऐसी बस्ती चरागों से खाली रही

दुश्मनो की तरह उससे लड़ते रहे
अपनी चाहत भी कितनी निराली रही

जब कभी भी तुम्हारा ख्याल आ गया
फिर कई रोज तक बेख़याली रही

लब तरसते रहे एक हँसी के लिए
मेरी कश्ती मुसाफिर से खाली रही

चाँद तारे सभी हम सफर थे मगर
जिंदगी रात थी रात काली रही

मेरे सीने पे खुश्बू ने सर रख दिया
मेरी बाँहो में फूलो की डाली रही

कोई काँटा चुभा नहीं होता
दिल अगर फूल सा नहीं होता

कुछ तो मजबूरियाँ रही होंगी
यूँ कोई बेवफा नहीं होता

गुफ्तगू उनसे रोज होती है
मुद्दतो सामना नहीं होता

जी बहुत चाहता सच बोलें
क्या करे हौसला नहीं होता

रात का इन्तजार कौन करे
आजकल दिन में क्या नहीं होता

बेवफा रास्ते

flowers, girl, woman
best breakup part

बेवफा रास्ते बदलते हैं
हम सफर साथ साथ चलते हैं

किसके आंसू छुपे है फूलों में
चूमता हूँ तो होठ जलते है

उसकी आँखों को गौर से देखो
मंदिरों में चराग जलते हैं

एक दीवार वो भी शीशे की
दो बदन पास पास जलते हैं

कांच के, मोतियों के, आंसू के
सब खिलौने गजल में ढलते हैं

किसी की याद में पलकें जरा भिगो लेते
उदास रात की तन्हाइयों में रो लेते

दुखो का बोझ अकेले नहीं संभलता है
कहीं वो मिलता तो उससे लिपट के रो लेते

तुम्हारी राह में शाखों पे फूल सूख गये
कभी हवा की तरह इस तरफ भी हो लेते

अगर सफर में हमारा भी हमसफ़र होता
बड़ी खुशी से इन पत्थरों पे सो लेते

खुद की राह बना

पत्थर के जिगर वालो गम में वो रवानी है
खुद राह बना लेगा बहता हुआ पानी है

इक जहने परेशां में वो फूल सा चेहरा है
पत्त्थर की हिफाजत में शीशे की कहानी है

रोने का असर दिल पर रह रह के बदलता है
आंसू कभी शीशा है आंसू कभी पानी है

ये शबनमी लहज़ा है आहिस्ता गजल पढ़ना
तितली की कहानी है फूलों की जुंबानी है

तलवार से कांटा है फूलों भरी डालों को
दुनिया ने नहीं चाहा हम चाहने वालों को

मैं आग था फूलों में तब्दील हुआ कैसे
बच्चो की तरह चूमा उसने मेरे गालों को

अख्लाक वफ़ा चाहत सब कीमती कपडे है
हर रोज न ओढ़ा कर इन रेशमी शालों को

बरसात का मौसम तो लहराने का मौसम है
उड़ने दो हवाओ में बिखरे हुए बालों को

चिड़ियों के लिए चावल,पौदों के लिए पानी
थोड़ी सी मोहब्बत दे हम चाहने वालों को

मौला मुझे पानी दे मैंने नहीं माँगा था
चाँदी की सुराही को,सोने के प्यालों को

सूरज चंदा जैसी जोड़ी हम दोनों
दिन का तारा रात की रानी हम दोनों

जगमग जगमग दुनिया का मेला झूठा
सच्चा सोना सच्ची चांदी हम दोनों

इक दूजे से मिलकर पुरे होते हैं
आधी आधी एक कहानी हम दोनों

पर्वत पर्वत बादल बादल किरन किरन
उजले परवाले दो पंछी हम दोनों

मैं दहलीज का दीपक हूँ आ तेज़ हवा
रात गुजरें अपनी अपनी हम दोनों

HINDI SHAYARI

खुद पे तू रख नजर
इतना जो बरपा कहर
सीधे रास्तों पे चल
दो पहर

Khud Pe Tu Rakh Najar

Itna Jo Barpa Kahar

Sidhe Rasto Pe Chal

Do Pahar

Sad Shayari

sad shayari

इन चाँद सितारों में
कहीं न कहीं कोई अपना है
जो किसी वक्त साथ था
अब बन गया सपना है

ये तारे-सितारे भी बोलते है
कोई अपना है
जो तेज चमकता है

पर नहीं समझते जो चमकते
वो ध्रुव तारे है

बस युहीं कुछ भी
जो नहीं होता सच ही
मानने को तो कुछ भी मान ले
आखिर बीजगणित में कुछ नहीं मानते
तो X मानते ही

Motivational Shayari

ऊँचा-ऊँचा ख्वाब देखना अच्छा लगता है
उसका सींचा जाना हमारे हाथ में होता है
पूरा होता है ख्वाब तो सच होता है
वरना एक नींद टूटने पर
ख्वाब समझकर भूल जाना होता है

Uncha uncha khwab dekhana achha lagata hai

Uska Seencha Jana Hamare Hath Me Hota Hai

Pura Hota Hai Khaw To Sach Hota Hai

Varana Ak Neend Tutane Par

Khawb Samajhkar Bhul Jana Hota Hai

Attitude Shayari

Attitude Shayari

वो दम है
जो किसी से कम नहीं

हर राह को आसान बनाने का
सपना है पर भ्रम नहीं

Wo Dam Hai

Jo Kisi Se Kam Nahi

Har Raah Ko Asaan Banane Ka

Sapna Hai Par Bhram Nahi

विश्वास हो खुद पर

Direction

विश्वास हो खुद पर तो किनारे बदल जाते है
नजर जो बदलो तो नज़ारे बदल जाते है

कश्तियाँ बदलने की जरुरत क्या है
दिशाओ को बदलो तो किनारे बदल जाते है