fbpx
-
DAYS
-
HOURS
-
MINUTES
-
SECONDS

THIS YEAR 2024 READ MORE WEB STORY

गंगा दशहरा (Ganga Dashahara)

गंगा दशहरा (Ganga Dashahara) के पर्व पर हिंदी कविता

गंगा दशहरा (Ganga Dashahara)

गंगा दशहरा (Ganga Dashahara) भारत में विशेष धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व रखने वाला पर्व है। यह पर्व गंगा माता की महिमा को याद करता है और गंगा नदी के पवित्र जल का महत्व प्रस्तुत करता है। यह पर्व साल में वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है।

गंगा दशहरा(Ganga Dashahara) के दिन लोग गंगा नदी के किनारे जाते हैं और स्नान करते हैं। वे अपने पूजा-पाठ करते हैं, मन्त्र जपते हैं और आरती करते हैं। यह दिन गंगा नदी के किनारे भक्तों की भीड़ बढ़ती है और धर्मिक महत्वपूर्ण गाथाओं और कथाओं का पाठ किया जाता है।

इस दिन गंगा दशहरा (Ganga Dashahara) का विशेष त्योहार भी मनाया जाता है। इसमें लोग गंगा माता के प्रतिमा की पूजा करते हैं, उन्हें फूल, दीप, चादर आदि से सजाते हैं। पूजा के बाद प्रसाद बांटा जाता है और भक्तों के बीच धार्मिक गाने और भजनों का संगीत होता है।

बहती है गंगा शुद्धता की धारा,

धरा से लेकर उच्चता तक निर्मल न्यारा।

दशहरा के पर्व पर ध्यान देते हैं हम,

गंगा माता की महिमा है सदा अपार।

अपार ब्रह्मस्वरूपिणी गंगा जी की महिमा,

उनकी पावन जल नहीं कहीं होती क्षिमा।

धरती को स्नान कराती हैं अपने जल से,

जन-जन को देती हैं शुभ फल-फूल से।

दशहरा के पावन पर्व पर हम यह जानते हैं,

गंगा माता की महिमा सबको भाती हैं।

प्रार्थना करते हैं हम उनके चरणों में,

सदैव रहे सुख-शांति और आनंद से जीने।

उठो आओ, गंगा की ओर चलो,

पापों को धोकर शुद्धता को पाओ।

दशहरा के पावन पर्व मनाएं,

गंगा माता के चरणों में जीने।

गंगा दशहरा के अवसर पर आपको बधाई,

सदैव बनी रहे आपकी आनंद भरी ज़िन्दगी।

गंगा माता की कृपा सदा बनी रहे आप पर,

हर कार्य सफल हो, हो आपका सदैव उद्धार।

बहती रहे गंगा की शुद्धता की धारा,

धरा से लेकर उच्चत तक निर्मल न्यारा।


गंगा दशहरा के पर्व पर लें आशीर्वाद,

बनें स्नान करते हुए पावन स्थल आपके द्वार।

यज्ञों की सफलता हो, मनोकामनाएं पूरी हों,

आपकी जीवन में सुख-शांति बरसे बहुत सारे फूल।

गंगा माता के पावन जल से पापों का नाश,

हों आपके जीवन में हमेशा उज्ज्वल आगमन।

निर्मल भावों से जीने का लें आदेश,

गंगा दशहरा के पर्व में हो आपका आदर्श।

गंगा दशहरा के पावन पर्व पर हम यह सोचें,

अपने कर्तव्यों का ध्यान रखें और मन रोचें।

गंगा माता की कृपा सब पर बरसाएं,

शुभ बने आपके सभी अवसर और उपहार लाएं।

गंगा दशहरा के पर्व पर हम यह संकल्प लें,

प्रकृति की सुंदरता को बनाएं बनेंगे।

स्वच्छता का संकल्प हम सब मिलकर लें,

गंगा माता के पर्व पर हों यह उपहार हमें।

गंगा दशहरा के पर्व पर यह सन्देश देती हूँ,

अपनी आदतों में स्वच्छता को सुनिश्चित करें।

गंगा माता की जीवन शक्ति का आदर करें,

धरती माता को निरंतर प्यार भरा सम्मान|

Hindi Poetry-

1-आईपीएल मैच में RCB के खिलाफ गुजरात पर लगे पहले झटके पर हिंदी कविता

2-चेन्नई सुपर किंग के आखिरी मैच पर कविता

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

April fool 2024: Why is April Fool celebrated? Bihar board result 2024 realise यह त्योहार ईसाई समुदाय के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। Learning from Shiba Inu to Osaka Protocol Gate 2024 Result Declared